Attandence

Rules And Regulations

1. विश्वविद्यालय के नियमानुसार परीक्षा में प्रवेश का अधिकार पाने के लिए प्रत्येक विषय में 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है। उपस्थिति के लिए व्याख्यानों तथा प्रयोगात्मक कक्षाओं को भिन्न-भिन्न विषय माना जायेगा।

2. कक्षा से निलम्बित किये जाने की अवस्था में किसी विद्यार्थी की उपस्थिति कक्षा में मान्य नहीं होगी।

3. प्रयोगात्मक परीक्षा में बैठने की अनुमति से कोई भी विद्यार्थी, यदि उसकी उपस्थिति किसी विषय में कम है, तो वह लिखित परीक्षा में बैठने का अधिकारी नहीं होगा।

4. प्रत्येक माह की समाप्ति पर प्राध्यापक विद्यार्थियों को उनकी उपस्थिति बतायेंगे। यदि कोई प्राध्यापक नहीं बता पाते हैं तो विद्यार्थियों का कर्तव्य है कि वह स्वयं मालूम करें क्योंकि उपस्थिति में कमी का दायित्व अन्ततः विद्यार्थी का ही है।

5. अभिभावकों से अपेक्षा की जाती है कि वह इस बात को देखते रहें कि उनके आश्रित कक्षाओं में नियमित रूप से उपस्थित रहते हैं। उन्हें अपने आश्रितोें की उपस्थिति एवं पढ़ाई के बारे में महाविद्यालय के अधिकारियों से पूछते रहना चाहिए।

6. विद्यार्थी के किसी परीक्षा में बैठने से रोके जाने पर विद्यार्थी अथवा उसके अभिभावक की ओर से उपस्थिति अथवा प्रगति की कमी की अज्ञानता मान्य न होगी।

<